ब्रेकिंग न्यूज़ राज्यो से शहरों से

बिग ब्रेकिंग कुशीनगर:-*शिकायतकर्ताओ को जबरन थाने पर बैठाकर विवादित भवन का छत निर्माण का आरोप थाना पटहेरवा

शिकायतकर्ताओ को जबरन थाने पर बैठाकर विवादित भवन का छत निर्माण का आरोप

कोर्ट के स्थगन आदेश को भी नही मानती पटहेरवा पुलिस

 

आपको बताते चलें कि उत्तर प्रदेश जनपद कुशीनगर पटहेरवा थाने के अंतर्गत ग्राम सभा पिपराकनक में एक तरफ सरकार सार्वजनिक भूमि से अवैध अतिक्रमण को खाली कराने का फरमान जारी कर रही हैं तो दूसरी तरफ पिपराकनक निवासी लोगों का कहना कि पूर्व में कब्रिस्तान की भूमि में भवन निर्माण की शिकायत के बाद कोर्ट के स्थगन व मामला मा.न्यायालय के विचाराधीन होने के बाद विवादित भूमि में छत निर्माण कराया जा रहा था, मा. न्यायालय के आदेश का उल्लंघन होता देख जब इसकी सूचना पटहेरवा पुलिस को दी गई तो मौके पर पहुंची पुलिस ने निर्माण कार्य रोकने के बाबजूद शिकायतकर्ताओं अजय, जुनैद आदि को ही थाने लाकर बैठा दी। जिसके बाद अवैध निर्माण का कार्य निर्वाध गति से जारी रहा। बाद में एहतियातन पुलिस ने थाने पर लाये गये शिकायतकर्ताओं को गुरुवार की देर शाम आनन फानन में शांति भंग में चालान कर दिया।
वैसे मामला जो भी हो यह कार्रवाई जहां पुलिस की कार्यप्रणाली पर प्रश्नचिन्ह खड़ी कर रही हैं तो दूसरी तरफ मा. न्यायालय के आदेशों के उल्लंघन के रूप में भी देखा जा रहा है। वही लोग इस मामले को लेकर तरह तरह के कयास भी लगा रहे हैं।
मामले में कोर्ट के स्थगन आदेश व मा.न्यायालय की ओर से दिए गये फैसले की प्रति को देख कर खुद ही ये अनुमान लगाया जा सकता हैं कि मैनेज के खेल में पटहेरवा पुलिस किस तरह मा.न्यायालय के आदेशों की अवहेलना कर रही हैं।
अब मा.न्यायालय के आदेश के बाद भी पुलिस की ऐसी कार्यप्रणाली, फिर न्याय की उम्मीद …..?
जांच के बाद ही सच्चाई से पर्दा उठता हुआ नजर आएगा। बाद में एसडीएम तमकुहीराज के संज्ञान में जब मामला आया तो उन्होंने लेखपाल, राजस्व निरीक्षक को मौके पर भेज मा.न्यायालय के स्थगन आदेश का अनुपालन कराया।
अब देखा जाये कि मा.न्यायालय के आदेशों की अवहेलना करने वाले मामले में उच्चाधिकारी कितना संज्ञान लेते हैं और पटहेरवा पुलिस के खिलाफ किस प्रकार की कार्रवाई करते हैं ये तो अभी समय के गर्त में है।
फिर भी फरियादी उच्चाधिकारियों से अब भी न्याय की उम्मीद लगाए हुए है। इस मामले में पीड़ित पक्ष उच्चाधिकारियों के साथ ही सीएम को पत्र भेजकर न्याय की गुहार लगाई हैं।

ब्यूरो रिपोर्ट कुशीनगर

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *